जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सरकार का सबसे बड़ा फैसला



जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सरकार का सबसे बड़ा फैसला। कश्मीर में आज दिन तक का सबसे भयंकर आतंकी(Terrorisizm Attack), Army के 44 CRPF जवान शहीद हुए।

जम्मू-कश्मीर में अभी 14 फ़रवरी गुरुवार पुलवामा के पास CRPF के 43 जवान एक बहुत ही बड़े आतंकी हमले में शहीद हो गए। इसके अलावा 20 से भी अधिक जवान घायल हो गए। समाचार Agency की रिपोर्ट के अनुसार शहीद जवानों की संख्या 39 बतायी जा रही है। जब हमला हुआ तब 2547 जवान 78 वाहनों में बैठकर वापिस छुट्टिया बिताकर वापिस अपने काम पर जा रहे थे। ठीक, इसी दौरान जैस-ए मोहम्मद के हमलावर ने विस्पोटको से भरी लदी कार को बहुत ही Fast Speed में जवानों के वाहनों का टक्कर मारा जिसकी वजह से हमलावरों  रखे विस्पोटक फट गये।
pulwama me aatanki attack ke baad sarkar ka bada faisla, pulwama terror attack in Kashmir, pulwama attack ke baad modi sarkar ka faisla, jammu kasmir ke pulwama me aatanki hamla

धमाका इतना भयंकर हुआ की जवानों के वाहन के छितरे उड़ गए और इसके विस्पोट की गूंज लगभग 10 किलोमीटर तक आयी।

CRPF का पूरा नाम (Central Reserve Police Force) है। उस समय आत्मघाती हमलावरों के वाहन में 350 किलोग्राम विस्पोटक सामग्री थी। यह हमला श्रीनगर से लगभग 30 किलोमीटर की दुरी पर हुआ था। इस प्रकार इस आतंकी बाद जम्मू-कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गयी है।

सोशल मीडिया पर एक 10 मिनट का वीडियो virul हो रहा है लेकिन सरकार को आशंका है की इससे लोगों में आतंक और अधिक फैलने की आशंका हैं। एनआईए टीम को श्रीनगर शुक्रवार को भेजा है जो घटनास्थल पर जांच पड़ताल करें।

पुलवामा में आतंकी हमले के बाद सरकार का सबसे बड़ा फैसला

प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने CRPF के जवानों को श्रद्धांजलि दी और कहा की इनके बलिदान को व्यर्थ नहीं दिया जाने देगा। ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी जवानो को श्रद्धांजलि दी। दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पर शहीदों का शव पहुंच गया है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि बहादुर जवानों की शहादत को सलाम है. जब बड़ा काफिला चलेगा, तब स्थानीय आवाजाही रोकी जाएगी. आवाजाही रोकने से लोगों को थोड़ी असुविधा होगी.  पाकिस्तान से पैसा लेने वालों की सुरक्षा पर विचार किया जाएगा. ऐसे लोग कश्मीर के युवाओं की जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। 

पुलवामा हमले के खिलाफ युवाओं का प्रदर्शन

pulwama me aatanki attack ke baad sarkar ka bada faisla, pulwama terror attack in Kashmir, pulwama attack ke baad modi sarkar ka faisla, jammu kasmir ke pulwama me aatanki hamla


पुलवामा हमले के विरोध में पाकिस्तानी दूतावास पर विरोध प्रदर्शन करने जा रहे 'स्वाभिमान देश का' संगठन के संस्थापक अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह बिधूड़ी और उनके सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रास्ते में ही रोक लिया. लेकिन वे दूतावास जाने की जिद पर अड़े रहे. लिहाजा, पुलिस उन्हें बस में भरकर मंदिर मार्ग थाने ले गई. संगठन के सदस्य वहीं पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए. सुरेंद्र सिंह सरकार से पाकिस्तान को सबक सिखाने की मांग करते रहे।


  
Previous
Next Post »

Follow by Email

About

Featured Post