परमाणु बम(Atom Bomb) क्या हैं? कैसे बनता हैं और पहला परमाणु बम कब बना ➤ w3survey

⬋ परमाणु बम क्या हैं?⬋ परमाणु बम कैसे बनता हैं?⬋ विश्व का पहला परमाणु बम कब बनाया गया?⬋ सबसे पहले परमाणु बम कब और कहा विस्फोट किया गया?

atomic bomb, parmanu bomb, parmanu bomb kya hai, what is atomic bomb, parmanu bimb kaise banta hai, nuclear bomb is formed, pahla parmanu bomb kab bana, parmanu bomb kaise banta hai, first parmanu bomb blast



परमाणु बम क्या हैं?

विश्वविख्यात वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टाइन ने सर्वप्रथम पदार्थ और ऊर्जा में एक संबंध स्थापित किया था उन्होंने यह सिद्ध किया की पदार्थ को उर्जा में बदला जा सकता है उनके सूत्र के अनुसार यदि  1 ग्राम पदार्थ को उर्जा में बदला जाए तो उससे 900 खरब जूल ऊर्जा पैदा होगी। आइंस्टीन के इस सूत्र को प्रयोग में लाकर वैज्ञानिकों ने परमाणु बम का निर्माण किया।

अनजान लड़की से video calling या chatting कैसे करें साथ में फ़ोन नंबर लेवें। 

विश्व का पहला परमाणु बम कब बनाया गया?

विश्व का सबसे पहला परमाणु बम अमेरिका के कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय के प्रोफेसर जे आर ओपनहीमर ने बनाया था। इसका सफल परीक्षण 16 जुलाई सन 1945 को सुबह 5:30 बजे  अलमोगोर्डो(NEW MAIXICO) नामक स्थान पर अमेरिका में किया गया था। यह प्लूटोनियम Metal को इस्तेमाल करके बनाया गया था। जब इस बम का परीक्षण किया गया तो इसके विस्फोटक से लगभग 40,000  फ़ीट ऊंची एक बादल सा बन गया।  जिस लोहे की मीनार से इस बम का परीक्षण किया गया था विस्फोट के बाद उसका नामोनिशान नहीं रहा बल्कि वहां एक बहुत बड़ा गड्ढा बन गया।


सबसे पहले परमाणु बम कब और कहा विस्फोट किया गया?

परमाणु बम का विनाशकारी प्रयोग सबसे पहले द्वितीय महायुद्ध में किया गया। अमेरिका ने 6 अगस्त 1945 को यूरेनियम से बना बम जापान के हिरोशिमा(Hiroshima) नामक शहर पर गिराया। ठीक इसके 3 दिन बाद प्लूटोनियम से बना दूसरा बम जापान के दूसरे शहर नागासाकी पर गिराया गया। सदियों से बचने वाले यह शहर कुछ ही क्षण में खंडहरों में परिवर्तित हो गए।

अपने दुपहिया वाहन का insurance या बीमा कैसे renew करे घर बैठें। 

परमाणु बम कैसे बनता हैं?

परमाणु बम नाभिकीय विखंडन क्रिया पर कार्य करता है। नाभिकीय विखंडन में यूरेनियम जैसे नाभिक पर न्यूट्रॉन करो की बौछार की जाती है इससे यूरेनियम का नाभिक दो हिस्सों में टूट जाता है। इसके टूटने से कुछ न्यूट्रॉन पैदा होते हैं और बहुत ऊर्जा अधिक ऊर्जा पैदा होती है।यूरेनियम के एक नाभिक के टूटने से बेरियम और क्रिप्टॉन के दो नाभिक बनते हैं और साथ ही साथ कुछ न्यूट्रॉन तथा 20 करोड़ इलेक्ट्रॉन वोल्ट ऊर्जा पैदा होती है। नाभिकीय विखंडन में पैदा हुए न्यूट्रॉन यूरेनियम के दूसरे नाभिकों को तोड़ने चले जाते हैं। इस प्रकार नाभिको के टूटने की एक श्रृंखला बन जाती है जिसे अपार ऊर्जा पैदा होती है। यदि इस क्रिया को नियंत्रित नहीं किया जाए तो यही हर मानव बम के विस्फोट का रूप धारण कर लेती है।

10,000 रूपये की कीमत का जबरदस्त SAMSUNG GALAXY MOBILE PHONE - बेस्ट फीचर फ़ोन  

परमाणु बम विस्फोट कैसे किया जाता हैं ?

परमाणु बम के निर्माण में यूरेनियम-235 या प्लूटोनियम धातु का प्रयोग में लाया जाता है। इन धातुओं में से किसी एक धातु के दो टुकड़े एक मजबूत खोल में अलग-अलग रखे जाते हैं। जब बम का विस्फोट करना होता है तो इन टुकड़ों को किसी विधि द्वारा आपस में मिला दिया जाता है।  ऐसा करने पर कॉस्मिक किरणों में उपस्थित कुछ न्यूट्रॉन विखंडन के लिए शुरू कर देते हैं। इसे नियंत्रित विखंडन प्रक्रिया में अपार ऊर्जा पैदा होती है यही परमाणु बम का विस्फोट कहलाता है।

कैंसर का शिकार होने के बावजूद अपने आत्मबल के सहारे बना World Level Bodybuilder 

Post a Comment

0 Comments